Google App Engine in cloud computing in hindi|जानिए क्या है गूगल एप इंजन|

आज के इस आर्टिकल में गूगल एप इंजन (what is google app engine in hindi) के बारे में जाने वाले हैं |यदि यूनिवर्सिटी एग्जामिनेशन के हिसाब से देखें तो गूगल एप इंजन एक बहुत ही महत्वपूर्ण टॉपिक है जिसके बारे में आपको जानना बहुत जरूरी है | आज के इस आर्टिकल में हम जानने वाले हैं google app engine in cloud computing in hindi, google app engine kya hai, what is google app engine used for आदि |

गूगल एप इंजन platform as a service का उदाहरण है platform as a service का मतलब ऐसे सॉफ्टवेयर से होता है जो दूसरे सॉफ्टवेयर को बनाने के लिए प्लेटफार्म या वातावरण प्रदान करते हैं जैसे कि व्हाट्सएप फेसबुक इंस्टाग्राम जैसे सॉफ्टवेयर को बनाने के लिए किसी प्लेटफार्म की जरूरत पड़ती है और platform as a service डेवलपर्स को वातावरण प्रदान करती है ताकि वे इस तरह के और सॉफ्टवेयर डेवलप कर सकें गूगल एप इंजन वेब डेवलपर्स के लिए बहुत ही फ्रेंडली वातावरण प्रदान करता है गूगल एप इंजन डेवलपर के लेबल पोस्टिंग प्रदान करता है स्केलेबल होस्टिंग का मतलब उस सॉफ्टवेयर को बनाने के लिए जिन जिन चीजों की आवश्यकता होती है चाहे वह वर्तमान में हो या फिर भविष्य में , google app engine उन सभी आवश्यकताओं की पूर्ति करता है

गूगल एप इंजन tier 1 internet service प्रदान करता है| tier 1 हम इंटरनेट के बिगबेन को कहते हैं जहां से इंटरनेट जनरेट होता है या फिर हम रहे कि जो इंटरनेट का मुख्य स्रोत होता है उसे हम tier 1 internet service कहते हैं जो इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर हमारे घरों में इंटरनेट प्रदान करते हैं वह tier 3 internet service होते हैं|इसमें जानने वाली बात यह है कि tier 3 internet service के पास इंटरनेट tier 1 internet service से आता है

गूगल एप इंजन एप्लीकेशंस को सपोर्ट करता है जोकि java, python, php या Go में बनाई गई होती है इन प्रोग्रामिंग लैंग्वेज के अलावा गूगल एप इंजन और किसी भी अन्य लैंग्वेज के द्वारा बनाई गई एप्लीकेशन को सपोर्ट नहीं करता है

गूगल एप इंजन के अंदर जितनी भी एप्लीकेशन होती हैं उन सभी का डाटा google big table के अंदर स्टोर रहता है google big table वह जगह होती है जहां गूगल पे कंप्यूटर हार्डवेयर एवं सॉफ्टवेयर रिसोर्सेज रखे जाते हैं मोबाइल या कंप्यूटर में हम जो भी गूगल का होमपेज देखते हैं वह तो सिर्फ एक इंटरफ़ेस होता है जिसके द्वारा हम गूगल की सभी सर्विसेस को यूज कर पाते हैं लेकिन इसके पीछे की जो टेक्नोलॉजी, सरवर ,नेटवर्किंग ,हार्डवेयर ,सॉफ्टवेयर resources जो गूगल मैनेज करता है वह सभी गूगल डाटा सेंटर में स्टोर रहते हैं

गूगल एप इंजन में जो एप्लीकेशन यूज़ की जाती है उनमें SQL की जगह GQL (google query language) यूज़ की जाती है| GQL, SQL के समान ही होती है क्योंकि इनके syntax काफी हद तक मिलते जुलते हैं| लेकिन स्ट्रक्चर्ड क्वेरी लैंग्वेज अलग होती है और गूगल क्वेरी लैंग्वेज अलग होती है, लेकिन हां यदि यूजर को स्ट्रक्चर्ड क्वेरी लैंग्वेज पहले से आती है तो उसे गूगल क्वेरी लैंग्वेज समझने में ज्यादा कठिनाई नहीं आएगी|

Google app engine का सबसे बड़ा फायदा यह है कि गूगल एप इंजन में सिस्टम एडमिनिस्ट्रेशन और डेवलपमेंट के टास्क को रिमूव कर दिया है यानी कि यदि आपको अपनी कोई भी एप्लीकेशन गूगल एप इंजन में अपलोड करनी है तो इसके लिए आपको किसी भी एडमिनिस्ट्रेटर से अनुमति लेने की जरूरत नहीं है और यदि आपको उस एप्लीकेशन को दोबारा एडिट भी करना है तो इसके लिए भी आपको सिस्टम एडमिनिस्ट्रेटर से कोई भी परमिशन लेने की जरूरत नहीं है

गूगल एप इंजन हमें बहुत सी रिसोर्सेज फ्री में प्रदान करता है हां लेकिन यदि आपको अलग से कुछ और रिसोर्सेज की जरूरत पड़ती है तो इसे आप खरीद सकते हैं

Google App Engine के प्रयोग (what is google app engine used for)

गूगल एप इंजन यूज करने के बहुत से कारण है जिन्हें कि आप नीचे देख सकते हैं

गूगल एप इंजन हमारी एप्लीकेशन के लिए stable और extandable प्लेटफार्म प्रदान करता है| stable का मतलब यहां पर यह है कि यदि हमने अपनी अलग एप्लीकेशन को गूगल इंजन पर एक बार अपलोड कर दिया तो हमें उसके मेंटेनेंस की चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है और extandable का अर्थ यहां पर यह है कि यदि हम अपनी एप्लीकेशन में और भी कुछ फीचर्स add करना चाहते हैं, और भी सर्विसेज add करना चाहते हैं तो हम उस में आसानी से ऐड कर सकते हैं|

गूगल एप इंजन, गूगल के सभी सर्विसेज और प्रोडक्ट को सपोर्ट करता है|आज वर्तमान में गूगल के बहुत सारे प्रोडक्ट हैं जैसे कि Gmail, google adsense, google assistant, google drive, google photo, google map, google pay आदि| इन सभी गूगल के प्रोडक्ट्स को गूगल एप इंजन सपोर्ट करता है|

गूगल एप इंजन में बनाई गई एप्लीकेशन को हम गूगल के डाटा सेंटर में use और run कर सकते हैं|

गूगल एप इंजन में एप्लीकेशन और सॉफ्टवेयर बनाने के लिए जो लैंग्वेज (python, java, php, go) यूज की जाती है वह समझने में बहुत ही आसान होती है|

एप्लीकेशन और सॉफ्टवेयर बनाने के लिए गूगल एप इंजन का प्लेटफार्म बिल्कुल फ्री है लेकिन यदि आप कुछ additional रिसोर्सेज का फायदा उठाना चाहते हैं तो इसके लिए आपको pay करना पड़ेगा|

यदि हमें गूगल एप इंजन की सर्विसेज को यूज करना है तो इसके लिए हमारे पास एक गूगल अकाउंट जरूर होना चाहिए

यदि आपको अपने एप्लीकेशन सॉफ्टवेयर की मार्केटिंग करनी है अपनी एप्लीकेशन को प्रमोट करना है तो इसमें गूगल आपकी बहुत मदद कर सकता है|

गूगल एप इंजन में यूजर एप्लीकेशन बनाने के लिए आसानी से कोड लिख सकता है और एप्लीकेशन को अपने लोकल सिस्टम में टेस्ट भी कर सकता है और इसके बाद वह एप्लीकेशन को अपलोड भी कर सकता है वह भी केवल एक बटन के क्लिक पर या फिर कुछ लाइन के कमांड को टाइप करके|

Google app engine पर एप्लीकेशन को अपलोड करना बहुत आसान है जिसमें इसका आसानी से समझ में आने वाला ग्राफिकल यूजर इंटरफेस एप्लीकेशन को अपलोड करने में हमारी बहुत मदद करता है|

Hello Guys, Ayush this side. I am founder of studypunchx. I love to share trending and useful informations. keep Growing.....

Leave a Comment