Cloud Computing क्या है ? What is cloud computing in hindi|

cloud computing एक ऐसी टेक्नोलॉजी है जहां पर इंटरनेट के माध्यम से यूजर्स तक कंप्यूटिंग रिसोर्सेज जैसे कि डाटा स्टोरेज, सर्वर, सॉफ्टवेयर, एप्लीकेशन और सर्विसेज आदि उपलब्ध कराना है| क्लाउड कंप्यूटिंग का मुख्य उद्देश्य यह है कि यूजर्स को अपना डाटा और एप्लीकेशन अपने लोकल स्टोरेज में स्टोर करके रखने की जरूरत ना पड़े बल्कि वह इसे रिमोट सर्वर पर स्टोर करके रख सकते हैं जिससे वे कभी भी अपने डाटा और एप्लीकेशन को एक्सेस कर सकते हैं| क्लाउड कंप्यूटिंग, इंटरनेट यूजर्स को रिमोट सर्वर में कभी भी डाटा और एप्लीकेशन आदि को स्टोर करके उसे एक्सेस करने की अनुमति देता है|

Traditional computing मॉडल में जब हमें किसी सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन या सर्विस को यूज करने की जरूरत पड़ती है तो हम उसे अपने लोकल स्टोरेज अथवा लोकल कंप्यूटर में उसका सॉफ्टवेयर इंस्टॉल करते हैं| इससे अलावा अगर हमें ज्यादा स्टोरेज कैपेसिटी की जरूरत पड़ती है तो हमें अलग से अपने पर्सनल कंप्यूटर में और ही hard drives इंस्टॉल करने पड़ते है जिससे हमारे लोकल कंप्यूटर का काम बहुत ज्यादा बढ़ जाता है और उसमें लोड भी अधिक से अधिक आने लगता है|

लेकिन क्लाउड कंप्यूटिंग में हम अपने डाटा और एप्लीकेशन को रिमोट सर्वर पर स्टोर करके रख सकते हैं यह सर्वर इंटरनेट से कनेक्टेड होते हैं इसीलिए जब भी हमें अपने डाटा की जरूरत पड़ती है तो हम इसे इंटरनेट के द्वारा आसानी से सर्वर से एक्सेस कर सकते हैं| क्लाउड कंप्यूटिंग में यह सभी सर्विसेज यूज़र तक पहुंचाने के लिए सरवर में सर्विस प्रोवाइडर होते हैं जैसे कि Microsoft Azure, google cloud, AWS (Amazon web services), Alibaba cloud, IBM Cloud etc.

तो आज के इस आर्टिकल में हम यही जानने वाले हैं की cloud computing kya hai, what is cloud computing in hindi, types of cloud computing in hindi, types of cloud service models in hindi, characteristics of cloud computing in hindi, features of cloud computing in hindi आदि|इसीलिए पोस्ट को पूरा last तक पढ़े जिससे आपको समझ आ जाए की क्लाउड कम्प्यूटिंग क्या है (what is cloud computing in hindi) और क्लाउड कम्प्यूटिंग के फ़ायदे क्या है (what are the benefits of cloud computing in hindi), तो चलिए शुरू करते हैं|

what is cloud computing in hindi
what is cloud computing in hindi

क्लाउड कम्प्यूटिंग क्या है? (what is cloud computing in hindi)

सीधे शब्दों में कहें तो कंप्यूटिंग रिसोर्सेज जैसे कि सॉफ्टवेयर एप्लीकेशन, डाटा स्टोरेज, नेटवर्किंग, डेटाबेस आदि को यूज़र तक ऑनलाइन तरीके से एक निश्चित समय के लिए रिसोर्सेज को किराए पर देना ही क्लाउड कंप्यूटिंग कहलाता है जिससे कि यूजर को इन कंप्यूटिंग रिसोर्सेज को सीधे अपने लोकल स्टोरेज में इंस्टॉल ना करना पड़े|

क्लाउड सर्विस मॉडल (Cloud service models in cloud computing)

Infrastructure as a service (Iaas)

यह एक क्लाउड कंप्यूटिंग मॉडल है जिसमें क्लाउड सर्विस के जो प्रोवाइडर होते हैं वह क्लाउड कंप्यूटिंग रिसोर्सेज जैसे कि वर्चुअल मशीन, डाटा स्टोरेज, नेटवर्क और भी कई रिसोर्सेज को ऑन डिमांड बेसिस पर यूजर्स को प्रदान करते हैं जिससे यूजर अपने एप्लीकेशन और सर्विसेस को deploy और मैनेज कर सकते हैं| यह मॉडल आपको वर्चुअल मशीन ऑफर करते हैं जिन्हें आप अपने एप्लीकेशन के एग्जीक्यूशन एनवायरनमेंट के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं| आप वर्चुअल मशीन पर ऑपरेटिंग सिस्टम एप्लीकेशन आदि को इंस्टॉल कर सकते हैं जैसे कि आप बिल्कुल फिजिकल सर्वर पर करते हैं| यह मॉडल आपको हाई स्टोरेज service प्रदान करते हैं जिन्हें आप अपने डेटा को स्टोर करने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं|

Platform as a service (paas)

इसे middle ware कंपोनेंट भी कहा जाता है इसमें आपको एक ready-to-use डेवलपमेंट प्लेटफॉर्म प्रदान किया जाता है जिससे आप अपने एप्लीकेशन डेवलपमेंट पर focus कर सकते हैं इसमें आपको पूरी तरीके से fully managed डेवलपमेंट वातावरण प्रदान किया जाता है जहां पर आप अपनी एप्लीकेशन को डेवलप करके टेस्ट कर सकते हैं और उन्हें डेप्लॉय कर सकते हैं| यह मॉडल आपको इंफ्रास्ट्रक्चर मैनेजमेंट की चिंता से मुक्त करते है और आपको एप्लीकेशन डेवलपमेंट ,टेस्टिंग और डेप्लॉयमेंट पर फोकस करने के लिए पूरी सुविधा प्रदान करता है|

Software as a service (saas)

यह cloud computing का एक मुख्य मॉडल है जिसमें applications को इंटरनेट की सहायता से यूज़र तक पहुंचाया जाता है| इस मॉडल में एप्लीकेशन को क्लाउड सर्विस प्रोवाइडर्स द्वारा host किया जाता है जिनको यूजर इंटरनेट के माध्यम से आसानी से एक्सेस कर सकता है बजाय की यूजर को एप्लीकेशन को अपने लोकल कंप्यूटर स्टोरेज में इंस्टॉल करना पड़े| इस मॉडल का मुख्य उद्देश्य है की यूजर को एप्लीकेशन को यूज करने के लिए एक इंफ्रास्ट्रक्चर और मेंटेनेंस की चिंता से दूर रखना है| यह मॉडल on-demand बेसिस पर सर्विस प्रदान करते हैं| इस मॉडल के कुछ ऐसे जीते जागते उदाहरण हैं जिन्हें कि आप अभी भी अपनी लाइफ में यूज करते होंगे, वह है – gmail, google drive, google chrome, one drive आदि| आपने ध्यान दिया होगा कि हमें इन एप्लीकेशंस को अपने मोबाइल या फिर कंप्यूटर में इंस्टॉल नहीं करना पड़ता है बल्कि यह एप्लीकेशन पहले से ही मोबाइल में दिए गए होते हैं हमें बस इन्हें एक्सेस करने के लिए इंटरनेट की आवश्यकता पड़ती है| ये एप्लीकेशन डायरेक्ट क्लाउड से कनेक्ट होते हैं और इनका सारा डाटा भी क्लाउड में ही स्टोर और मेंटेन किया जाता है|

क्लाउड कंप्यूटिंग के प्रकार क्या है ? (different Types of cloud computing services)

पब्लिक क्लाउड

पब्लिक क्लाउड, क्लाउड कंप्यूटिंग का एक ऐसा मॉडल है जिसमें क्लाउड सर्विस प्रोवाइडर की तरफ से publicaly accessible और shared कंप्यूटिंग resources का उपयोग किया जाता है| इस मॉडल में क्लाउड इंफ्रास्ट्रक्चर को मल्टीप्ल यूजर्स और ऑर्गनाइजेशन के बीच में शेयर किया जाता है| पब्लिक क्लाउड इन्फ्राट्रक्चर सामान्य रूप से पब्लिकली access किया जा सकता है| यानी कि इसमें यूज़र को पब्लिक क्लाउड एक्सेस करने के लिए केवल इंटरनेट की जरूरत पड़ती है इंटरनेट के द्वारा पब्लिक क्लाउड को आसानी से एक्सेस किया जा सकता है| यह इंफ्रास्ट्रक्चर थर्ड पार्टी क्लाउड सर्विस प्रोवाइडर्स द्वारा मैनेज किया जाता है जैसे की google cloud, AWS (amazon web services), Microsoft Azure और IBM cloud आदि|

प्राइवेट क्लाउड

private cloud cloud computing का एक ऐसा मॉडल है जिसमें क्लाउड इन्फ्राट्रक्चर को किसी specific ऑर्गेनाइजेशन के लिए निर्धारित किया जाता है |प्राइवेट क्लाउड इन्फ्राट्रक्चर किसी स्पेसिफिक ऑर्गेनाइजेशन के लिए रिजर्व होते हैं| यह अक्सर सिर्फ एक ही ऑर्गनाइजेशन के लिए अवेलेबल होते हैं जिससे वह फुल कंट्रोल और कस्टमइजेशन का फायदा भरपूर मात्रा में उठा सकते हैं| इसमें ऑर्गेनाइजेशन अपने डाटा सेंटर में थर्ड पार्टी cloud सर्विस प्रोवाइडर द्वारा host की गई server रिसोर्सेज का इस्तेमाल करती है| प्राइवेट क्लाउड की खासियत यह है कि इसमें क्लाउड इंफ्रास्ट्रक्चर को ऑर्गनाइजेशन के आवश्यकता के अनुसार आसानी से कस्टमाइज किया जा सकता है | organizaiton अपने इंफ्रास्ट्रक्चर को अपने एप्लीकेशन, ऑपरेटिंग सिस्टम और नेटवर्क आर्किटेक्चर के अनुसार कस्टमाइज कर सकती है|

कम्युनिटी क्लाउड

कम्युनिटी क्लाउड एक ऐसा क्लाउड इंफ्रास्ट्रक्चर है जिसमें बहुत सारे मल्टीपल ऑर्गेनाइजेशन या कम्युनिटीज (समूह) एक साथ क्लाउड इन्फ्राट्रक्चर रिसोर्सेज को शेयर कर सकते हैं जिससे उन्हें cost saving, source utilization आदि में फायदा मिलता है| इसमें मल्टीपल ऑर्गेनाइजेशन और कम्युनिटी एक समान आवश्यकता के अनुसार पर एक साथ क्लाउड इन्फ्राट्रक्चर रिसोर्सेस को शेयर कर सकते है| कम्युनिटी क्लाउड के सभी यूजर किसी पर्टिकुलर डोमेन इंडस्ट्री या इंटरेस्ट ग्रुप से संबंधित होते हैं जिसमें वे कम्युनिटी क्लाउड इन्फ्राट्रक्चर यूज करके एक समान आवश्यकता के अनुसार रिसोर्सेज जैसे की सर्वर, स्टोरेज और नेटवर्क आदि को आपस में शेयर करते हैं|

हाइब्रिड क्लाउड

हाइब्रिड क्लाउड को पब्लिक क्लाउड और प्राइवेट क्लाउड दोनों को मिलाकर बनाया जाता है मतलब कि इसमें कुछ फीचर पब्लिक क्लाउड के होते हैं और कुछ फीचर प्राइवेट के| इसमें कोई ऑर्गेनाइजेशन जो कि प्राइवेट क्लाउड का यूज कर रही है वह अपने सेंसेटिव डाटा और बहुत ही महत्वपूर्ण और प्राइवेट एप्लीकेशन आदि को प्राइवेट क्लाउड पर होस्ट करते हैं जबकि नॉन सेंसेटिव डाटा और जो कि इतना प्राइवेट रखने लायक नही है उसे पब्लिक क्लाउड पर होस्ट करते हैं|

क्लाउड कम्प्यूटिंगके उपयोग (characteristics of cloud computing) :

डाटा स्टोरेज

क्लाउड कंप्यूटिंग आपको डाटा स्टोरेज की सुविधा देता है इसमें आप अपने डाटा को इंटरनेट के द्वारा रिमोट सर्वर पर स्टोर करके रख सकते हैं यदि आपके डिवाइस में बहुत ही ज्यादा मात्रा में डाटा है और उसे आप अपने लोकल स्टोरेज या फिर डिवाइस में स्टोर करके अपने डिवाइस की स्टोरेज को नहीं बढ़ाना चाहते हैं तो उसे आप क्लाउड कंप्यूटिंग के द्वारा रिमोट सर्वर पर स्टोर करके रख सकते हैं और आवश्यकता पड़ने पर आप अपनी डाटा को इंटरनेट के द्वारा कभी भी एक्सेस कर सकते हैं| कुछ ऐसी क्लाउड स्टोरेज सर्विसेज हैं जिससे कि आप परिचित ही होंगे जैसे कि google drive, dropbox, onedrive आदि|

ऑनलाइन बैकअप

क्लाउड कंप्यूटिंग आपको आपके डाटा को ऑनलाइन तरीके से रिमोट सर्वर पर बैकअप करने की भी सुविधा देता है आप अपने इंपॉर्टेंट फाइल्स डॉक्यूमेंट और डाटा को क्लाउड स्टोरेज पर स्टोर करके उन्हें सिक्योर रख सकते हैं| अगर आपके लोकल सिस्टम या डिवाइस पर कोई प्रॉब्लम हो या आपको लगे कि डाटा loss हो जाएगा तो आप क्लाउड पर अपने डेटा का बैकअप बना सकते हैं|जिसे आप मनचाहा कभी भी अपने लोकल सिस्टम पर इंटरनेट के द्वारा एक्सेस कर सकते हैं और उसे डाउनलोड कर सकते हैं|

Software & application

क्लाउड कंप्यूटिंग के द्वारा आप सॉफ्टवेयर और एप्लीकेशन को इंटरनेट के द्वारा अपने लोकल सिस्टम पर यूज कर सकते हैं| क्लाउड कंप्यूटिंग की सॉफ्टवेयर और एप्लीकेशन को अपने लोकल सिस्टम में यूज करने के लिए हमें उसे सिस्टम में install नहीं करना पड़ता है बल्कि इसके लिए हमें केवल इंटरनेट से कनेक्ट होना पड़ता है इंटरनेट से कनेक्ट होकर हम क्लाउड कंप्यूटिंग की सारी इस एप्लीकेशन सर्विसेज को अपने लोकल सिस्टम में यूज कर सकते हैं| कुछ ऐसी ऑनलाइन एप्लीकेशंस हैं जिन्हें कि हम इंटरनेट से कनेक्ट होकर डायरेक्ट क्लाउड से बिना अपने लोकल सिस्टम में इंस्टॉल किए यूज कर सकते हैं जैसे की वेब ब्राउज़र (chrome), email की सुविधा के लिए (Gmail), ऑनलाइन डॉक्यूमेंट एडिटर के रूप में (google doc, google, sheet, etc.) आदि|

वेब होस्टिंग

क्लाउड कंप्यूटिंग वेब होस्टिंग की सर्विस भी प्रदान करता है| क्लाउड कंप्यूटिंग में आप अपनी वेबसाइट और वेब एप्लीकेशन को क्लाउड प्लेटफॉर्म में होस्ट कर सकते हैं और अपने website और application को ऑनलाइन कर सकते है, इससे आपकी एप्लीकेशन या वेबसाइट कम खर्च में ज्यादा सिक्योर बनी रहती है|

क्लाउड कम्प्यूटिंग के फायदे (Benefits of cloud computing) :

Data access anywhere

क्लाउड कंप्यूटिंग की मदद से क्लाउड पर स्टोर किए गए डाटा और एप्लीकेशन को आप कहीं से भी एक्सेस कर सकते हैं| यह प्लेटफॉर्म डिपेंडेंट बिल्कुल नहीं है इसे आप चाहे अपने लैपटॉप, स्मार्टफोन या टैबलेट का इस्तेमाल ही क्यों ना करें आप अपने imp files, photoes, document और applications को इंटरनेट के द्वारा क्लाउड स्टोरेज सर्विस में स्टोर करके उन्हें कहीं से भी एक्सेस कर सकते हैं बस इसके लिए आपको चाहिए तो केवल और केवल एक बेहतर इंटरनेट|

Sharing

क्लाउड कंप्यूटिंग आपको डॉक्यूमेंट और एप्लीकेशन शेयरिंग ऑप्शन भी देता है इसकी मदद से आप आप अपनी क्लाउड स्टोरेज पर स्टोर हुई files, doocumens और applications आदि को किसी दूसरे यूजर के साथ शेयर कर सकते हैं|आप अपनी स्टोर हुई फाइल को मल्टीपल यूजर्स के साथ शेयर कर सकते हैं और रियल टाइम अपडेट और उसमें एडिट को चेक कर सकते हैं| यह फायदा ज्यादातर टीमवर्क, प्रोजेक्ट मैनेजमेंट और डॉक्यूमेंट शेयरिंग आदि में ज्यादा महत्वपूर्ण है|

ऑटोमैटिक बैकअप एंड रिकवरी

क्लाउड कंप्यूटिंग में आपके डाटा की बैकअप और रिकवरी के लिए ऑटोमेटिक बैकअप और रिकवरी सिस्टम होता है| आप अपने इंपॉर्टेंट फाइल और डॉक्यूमेंट को लोकल डिवाइस पर सेव करने के बजाय उन्हें क्लाउड स्टोरेज पर स्टोर करके उसका बैकअप बना सकते हैं और जब मन करे उसे आप इंटरनेट के द्वारा एक्सेस करके उसे रिकवर कर सकते हैं| इससे आप अपने डाटा के accidental deletion, device failure और data corruption से बच सकते हैं|

कम खर्च

क्लाउड कंप्यूटिंग आपको कम खर्च में अच्छी-अच्छी सुविधाएं प्रदान करता है आपको अपने पर्सनल कंप्यूटर या लैपटॉप के लिए अलग से महंगे महंगे हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर खरीदने की जरूरत नहीं होती है बल्कि क्लाउड सर्विस का उपयोग करके आप उन सभी रिसोर्सेज को कम पैसे देकर ऑनलाइन तरीके से यूज कर सकते हैं|

Entertainment & streaming

cloud computing आपके लिए इंटरटेनमेंट और ऑनलाइन स्ट्रीमिंग की सुविधा भी प्रदान करता है आप ऑनलाइन स्ट्रीमिंग सर्विसेज जैसे कि netflix और spotify जैसी सुविधाओं का उपयोग कर सकते हैं इनसे आप तरह-तरह की movies, TV shows, music आदि को देख और सुन कर खुद को entertain कर सकते हैं|

क्लाउड कम्प्यूटिंग के उदाहरण (Examples of cloud computing)

e-mail service

जब भी हम अपने मोबाइल लैपटॉप कंप्यूटर में ईमेल का इस्तेमाल कर रहे होते हैं तो हम वहां पर क्लाउड पर आधारित ईमेल सर्विस का इस्तेमाल कर रहे होते हैं हम अपने जीमेल अकाउंट को कहीं भी इंटरनेट कनेक्शन के द्वारा एक्सेस कर सकते हैं चाहे वह हमारे कंप्यूटर पर लैपटॉप पर ये स्मार्टफोन पर कहीं भी हो कुछ ऐसी ईमेल सर्विसेज हैं जिनकी आप जरूर अपनी रैली लाइफ में यूज करते होंगे Gmail, outlook, yahoo mail आदि|

storage और sharing

क्लाउड कंप्यूटिंग आपको डाटा स्टोरेज की सुविधा देता है इसमें आप अपने डाटा को इंटरनेट के द्वारा रिमोट सर्वर पर स्टोर करके रख सकते हैं| कुछ ऐसी क्लाउड स्टोरेज सर्विसेज हैं जिससे कि आप परिचित ही होंगे जैसे कि google drive, dropbox, onedrive आदि|क्लाउड कंप्यूटिंग आपको डॉक्यूमेंट और एप्लीकेशन शेयरिंग ऑप्शन भी देता है इसकी मदद से आप आप अपनी क्लाउड स्टोरेज पर स्टोर हुई files, doocumens और applications आदि को किसी दूसरे यूजर के साथ शेयर कर सकते हैं|आप अपनी स्टोर हुई फाइल को मल्टीपल यूजर्स के साथ शेयर कर सकते हैं और रियल टाइम अपडेट और उसमें एडिट को चेक कर सकते हैं| यह फायदा ज्यादातर टीमवर्क, प्रोजेक्ट मैनेजमेंट और डॉक्यूमेंट शेयरिंग आदि में ज्यादा महत्वपूर्ण है|

ऑनलाइन बैकअप

क्लाउड कंप्यूटिंग में आपके डाटा के बैकअप के लिए ऑटोमेटिक बैकअप सिस्टम होता है| आप अपने इंपॉर्टेंट फाइल और डॉक्यूमेंट को लोकल डिवाइस पर सेव करने के बजाय उन्हें क्लाउड स्टोरेज पर स्टोर करके उसका बैकअप बना सकते हैं और जब मन करे उसे आप इंटरनेट के द्वारा एक्सेस करके उसे रिकवर कर सकते हैं| इससे आप अपने डाटा के accidental deletion, device failure और data corruption से बच सकते हैं|

streaming services

cloud computing आपके लिए इंटरटेनमेंट और ऑनलाइन स्ट्रीमिंग की सुविधा भी प्रदान करता है आप ऑनलाइन स्ट्रीमिंग सर्विसेज जैसे कि netflix और spotify जैसी सुविधाओं का उपयोग कर सकते हैं इनसे आप तरह-तरह की movies, TV shows, music आदि को देख और सुन कर खुद को entertain कर सकते हैं बजाय की आपको उन movies, shows और music आदि को अपने local storage पर डाउनलोड करना पड़े|

सोशल मीडिया

जब भी हम अपने मोबाइल या लैपटॉप में या किसी भी डिवाइस में सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स जैसे कि फेसबुक, इंस्टाग्राम, टि्वटर आदि का इस्तेमाल कर रहे होते हैं तो हम वहां पर क्लाउड कंप्यूटिंग का उपयोग कर रहे होते हैं हम अपने जरूरी फोटोस, वीडियोस और पोस्ट आदि को इनडायरेक्टली इंस्टाग्राम पर upload करने की बजाय क्लाउड सर्वर पर अपलोड करते हैं जिससे हमारे अकाउंट पर फ्रेंड्स और फॉलोअर्स उन फोटोस और वीडियोस को कहीं से भी एक्सेस कर सकते हैं और देख सकते हैं क्योंकि वह पब्लिकली क्लाउड पर स्टोर किए गए होते हैं|

निष्कर्ष

अब तक आपने समझ लिया होगा की क्लाउड कम्प्यूटिंग क्या है? (cloud computing kya hai), what is cloud computing in hindi, क्लाउड कम्प्यूटिंग के प्रकार क्या है? (types of cloud services in hindi), types of cloud service models in hindi, क्लाउड कम्प्यूटिंग की विशेषताएँ क्या है ? (characteristics of cloud computing in hindi) और क्लाउड कम्प्यूटिंग के उपयोग क्या है? (features of cloud computing in hindi) आदि,| यदि आपको अभी भी लग रहा हो की आपको कुछ समझने में दिक़्क़त आ रही है तो आप comment करके पूछ सकते हैं|

Hello Guys, Ayush this side. I am founder of studypunchx. I love to share trending and useful informations. keep Growing.....

Leave a Comment