Java Data Types in Hindi |Data Types in Java in Hindi |

data types in java in hindi
data types in java in hindi

हेलो दोस्तों जावा प्रोग्रामिंग लैंग्वेज कि इस सीरीज़ में आज़ का टॉपिक है Data Types in java in Hindi। आज हम जावा में डेटा टाइप क्या होते हैं इसके बारे में जानने वाले हैं। आज हम निम्न टॉपिक्स को कवर करने वाले हैं जैसे की java data types in hindi, primitive data types in hindi, non-premitive data types in hindi आदि को कवर करेंगे। इसमें हम डेटा टाइप के कुछ प्रकार भी देखेंगे जैसे की Byte data type, Short data type, Int data type, Char data type, Float data type, Double data type, Boolean Data type आदि।

What is data types in java in hindi :

जब भी आप किसी वेरिएबल में किसी भी प्रकार की वैल्यू को स्टोर करते हैं तो वह वैल्यू किस प्रकार (type) की होगी यह डाटा टाइप निर्धारित करता है  डाटा टाइप किसी भी वेरिएबल का टाइप होता है जो कि यह बताता है कि variable में किस टाइप की वैल्यू को स्टोर करना है

जैसे की यदि आपने लिखा है : int a;

यहां पर a वेरिएबल का नाम है जिसका डाटा टाइप integer है यानी कि इस वेरिएबल में केवल (integer) पूर्णांक संख्याओं को ही स्टोर किया जा सकता है|

जैसे की int a = 20;

इसे आप इस प्रकार से समझ सकते हैं कि जिस प्रकार से हमारे रसोई घर में नमक शक्कर मसाला और हल्दी के अलग अलग डिब्बे होते हैं जिसमें हम नमक वाले डिब्बे में नमक डालते हैं शक्कर वाले डिब्बे में शक्कर और इसी तरह से मसाला वाले डिब्बे में मसाला और हल्दी वाले डिब्बे में हल्दी डालते हैं जिससे कि हमारा काम सही तरीके से चलता रहता है लेकिन यदि हम नमक वाले डिब्बे में शक्कर डाल देंगे तो फिर पूरा काम बिगड़ जाएगा

इसी प्रकार से डाटा टाइप काम करता है आपने जिस वेरिएबल को जिस डाटा टाइप के साथ डिक्लेअर किया है आप उसी टाइप की वैल्यू को वेरिएबल में स्टोर करा सकते हैं दूसरे टाइप की वैल्यू को स्टोर कराने पर आपको error देखने को मिलता है|

अभी तक हमने इंटीरियर टाइप के डाटा टाइप के बारे में ऊपर जाना जो की integer (पूर्णांक) टाइप की वैल्यू को स्टोर करने के काम आता है लेकिन अलग अलग तरह की वैल्यू को स्टोर करने के लिए अलग-अलग प्रकार के डाटा टाइप होते हैं तो सभी जानते हैं कि डाटा टाइप कितने प्रकार के होते हैं :

 

जावा में मूलतः दो प्रकार के डाटा टाइप (Data Types in Java in Hindi) होते हैं : 

1. Primitive Data Types

2. Non-primitive Data Type

Primitive data types :

जावा में प्रिमिटिव डाटा टाइप वह होते हैं जोकि pre-defined होते हैं और JVM में इनकी default implementation होती है| कुल 8 तरह के primitive डाटा टाइप होते हैं :

Byte Data Type :

Byte Data Type एक बहुत ही छोटे साइज का डाटा टाइप होता है जिसकी साइज केवल 1 वाइट होती है इसकी डिफॉल्ट वैल्यू जीरो होती है बाइट डाटा टाइप का उपयोग –128 से लेकर 127 तक की पूर्ण संख्याओं को स्टोर करने के लिए किया जाता है Byte Data Type  का उपयोग ज्यादातर मेमोरी बचाने के लिए किया जाता है इसका उपयोग हम इंटर के स्थान पर भी कर सकते हैं लेकिन तब जब वैल्यू –128 से 127 के बीच की हो|

उदाहरण : byte a = 10;

byte x = -30;

Short �Data Type :

Short �Data Type का उपयोग भी हम बाइट डाटा टाइप की तरह ही मेमोरी को बस आने के लिए कर सकते हैं इसका उपयोग भी इंटर के स्थान पर किया जाता है सॉर्ट डाटा टाइप –32768 से लेकर 32767 तक की वैल्यू को स्टोर करने के लिए काम आता है इसकी भी डिफॉल्ट वैल्यू जीरो होती है|

उदाहरण : short a = 10;

short x = -1200;

int �Data Type :

int �Data Type का उपयोग इंटीरियर पूर्णांक संख्याओं को स्टोर करने के लिए किया जाता है इंटर टाइप में हम –2,147,483,648 (–2³¹) से लेकर 2,147,483,647 (–2³¹–1) तक की वैल्यू को स्टोर कर सकते है|int डाटा टाइप का उपयोग प्रोग्रामों में ज्यादातर किया जाता है आप यह मानकर चलें कि 90% प्रोग्रामों में पूर्णांक संख्या को स्टोर करने के लिए int data type का ही उपयोग किया जाता है|

उदाहरण : int a=10;

int hello = -67276;

Long �Data Type :

Long �Data Type का उपयोग 9,223,372,036,854,775,808 से लेकर 9,223,372,036,854,775,807 तक की पूर्णांक संख्याओं को स्टोर करने के लिए किया जाता है| Long �Data Type का उपयोग तब किया जाता है जब int इतनी बड़ी संख्या को स्टोर करने के लिए पर्याप्त नहीं होता है long डाटा टाइप का साइज 8 बाइट होता है|

ध्यान दें कि Long डाटा टाइप का उपयोग int के स्थान पर तभी करना चाहिए जब int उस वैल्यू को स्टोर करने के लिए पर्याप्त ना हो क्योंकि ज्यादा long डाटा टाइप का यूज़ करने से फालतू में मेमोरी खर्च होती है|ध्यान दें की long डाटा टाइप की वैल्यू को L से end करना पड़ता है|

उदाहरण :

long number = 20000000000L;

Double Data Type :

डबल डाटा टाइप fractional (दशमलव) टाइप की वैल्यू को स्टोर करने के काम आता है| इसमें हम 1.7e–308 से 1.7e+308 तक की वैल्यू को स्टोर कर सकते हैं|इसमें हमे वैल्यू को d से end करना पड़ता है| इसकी default value 0.0d होती है|

उदाहरण :

double number = 23.353d;

Float �Data Type :

डबल डाटा टाइप की तरह ही float डाटा टाइप का भी उपयोग fractional numbe को स्टोर करने के लिए किया जाता है float डाटा टाइप में 3.4e–038 से लेकर 3.4e+038 तक की वैल्यू को स्टोर कर सकते हैं|ध्यान दे की इसकी वैल्यू को हमे f से end करना होता है| इसकी default value 0.0f होती है|

उदाहरण :

float nunber = 627.78;

Boolean �Data Type :

Boolean डाटा टाइप की केवल दो पॉसिबल वैल्यू होती है true और false | Boolean डाटा टाइप का उपयोग हमेशा true/false condition के लिए किया जाता है|Boolean �Data Type को “boolean” कीवर्ड के द्वारा declare किया जाता है| इसकी डिफॉल्ट वैल्यू false होती है|

उदाहरण :

boolean cold = true;

boolean hot = false;

Char �Data Type :

char डाटा टाइप के उपयोग एक सिंगल कैरेक्टर को स्टोर करने के लिए किया जाता है इसमें कैरेक्टर को single quote (‘ ‘) के अंदर रखना पड़ता है|

उदाहरण :

char myCharacter = ‘a’;

Non-Primitive Data Type in Hindi

Java में Non-Primitive Data Type को reference type या object type भी कहा जाता है क्युकी ये object को refer करते हैं|non-premitive डाटा टाइप को class या interface से derive किया जाता है|

Non-Primitive Data Type, premitive डाटा टाइप से ज्यादा फंक्शनैलिटी प्रोवाइड करते हैं| इन डाटा टाइप का उपयोग बहुत ही complex data structure को दर्शाने के लिए किया जाता है|

Non-Primitive डाटा टाइप के कुछ प्रकार इस तरह हैं : 

String :

String का उपयोग characters के समूह (name) को स्टोर करने के लिए किया जाता है String डाटा टाइप की वैल्यू को double quote के अंदर लिखा जाता है String डाटा टाइप को हम “String” कीवर्ड से डिक्लेअर करते हैं ध्यान दें कि इसमें पहला character ‘S’ upper case में होता है|

उदाहरण : String name = “sameer”;

Class :

Class ऑब्जेक्ट्स का एक समूह होता है यह एक ब्लूप्रिंट होता है जिससे objects create किए जाते हैं|class यूजर के द्वारा डिफाइन किया गया एक प्रोटोटाइप होता है|class के अंदर ही सारे variables और methods होते हैं|

Interface :

Java में interface का उपयोग inheritance को प्राप्त करने के लिए किया जाता है| interface में abstract methods होते हैं| interface को “interface” keyword के द्वारा declare किया जाता है|

Array :

Java में array same डाटा टाइप की वैल्यू का समूह होता है जो कि contegious मेमोरी लोकेशन में स्टोर रहते हैं| array का उपयोग same डाटा टाइप की बहुत सारी multiple values को एक सिंगल variable में स्टोर करने के लिए किया जाता है ताकि हमें प्रत्येक वैल्यू को स्टोर करने के लिए बहुत सारे वेरिएबल को बनाने की जरूरत ना पड़े|

int a[] = {1,2,3,4,5,6,7,8,9,12,56,67};

निष्कर्ष :

तो आज के इस आर्टिकल में हमने जाना java data types in hindi, primitive data types in hindi, non-premitive data types in hindi, Byte data type, Short data type, Int data type, Char data type, Float data type, Double data type, Boolean Data type आदि। आशा है कि आपको Data types in java in hindi अच्छे से समझ आया होगा।

Leave a Comment