कंप्यूटर नेटवर्क क्या है ? प्रकार, लाभ और हानि | What is Computer Network and its types ?

Computer Network Kya Hai
Computer Network Kya Hai

तो हेल्लो दोस्तों आज के इस आर्टिकल में मै आपको  Computer Network kya hota hai, Computer network ke prakaar, कंप्यूटर नेटवर्क के लाभ और कंप्यूटर नेटवर्क की हानि के बारे में  बताउगा | यदि आप अभी कॉलेज में है तो मै आपको बता दूँ की Computer Network के बारे में जरुर पढाया जाता है , कंप्यूटर नेटवर्क हमें आजकल की प्रगति की ओर बढती कंप्यूटर टेक्नोलॉजी और नेटवर्क से सम्बंधित विषयो के बारे में जानकारी देता है | इसीलिए यदि आपको Computer Network Kya Hai ? के बारे में जानना है तो हमारी इस पोस्ट को पूरा लास्ट तक पढ़े |

कंप्यूटर नेटवर्क क्या है (What is Computer Network) :

कंप्यूटर नेटवर्क एक Group of Computers  और other Devices जैसे की (printers, Routers,Switches) जो साथ में कनेक्ट होते हैं एक दुसरे से कम्यूनिकेट करने के लिए इससे डाटा और रिसोर्सेज शेयर किये जा सकते हैं और एक कंप्यूटर से दुसरे कंप्यूटर तक डाटा ट्रान्सफर होते हैं |

यह एक बहुत ही आवश्यक टॉपिक है जिसके बिना आजके दुनिया में कोई भी आर्गेनाइजेशन बिज़नेस या पर्सनल use के लिए कंप्यूटर का use नहीं कर सकता , इससे  हम internet भी कह सकते हैं जिसमे millions of computers पूरे वर्ल्ड में कनेक्ट होते हैं | internet एक ग्लोबल नेटवर्क है जिसके द्वारा हम दुनिया के किसी भी कोने में किसी से कम्यूनिकेट कर सकते हैं ,इनफार्मेशन शेयर कर सकते हैं और रिसोर्सेज access कर सकते  हैं |

यह एक बहुत ही पावरफुल टूल है जिसके द्वारा हम अपनी knowledge और resources को बाधा सकते हैं |

कंप्यूटर नेटवर्क में कई तरह के devices use होते है , जिसमे से Routers , Switches, Modems और Hubs  सबसे इम्पोर्टेन्ट होते हैं |

Routers एक कंप्यूटर नेटवर्क के लिए backbone होते हैं जिसके द्वारा data packets ट्रान्सफर होते हैं |

Switches एक कंप्यूटर नेटवर्क के लिए ट्रैफिक मेनेजर होते हैं जिसके द्वारा डाटा पैकेट को डिफरेंट computers तक पहुचाया जाता है

Modems एक कंप्यूटर नेटवर्क के लिए Gateway होते हैं  जिसके द्वारा कंप्यूटर नेटवर्क से internet तक का कनेक्शन होता है |

Hubs एक कंप्यूटर नेटवर्क के लिए सेंट्रल पॉइंट होते है जिसके द्वारा सारे devices कनेक्ट होते है |

कंप्यूटर नेटवर्क के लिए कई तरह के Topologies use होते है जिसमे से बस टोपोलॉजी , स्टार टोपोलॉजी, रिंग टोपोलॉजी और मेष टोपोलॉजी सबसे कॉमन होते है

बस टोपोलॉजी में सारे devices एक बस केबल से कनेक्ट होते हैं जिसके द्वारा डाटा ट्रान्सफर होते हैं

स्टार टोपोलॉजी में सभी devices एक सेंट्रल Hub से कनेक्ट होते है जिसके द्वारा डाटा ट्रान्सफर होता है

रिंग टोपोलॉजी में सभी devices एक रिंग शेप में कनेक्ट होते हैं जिसके द्वारा डाटा ट्रान्सफर होता है

और मेष टोपोलॉजी में सभी devices एक दुसरे से डायरेक्टली कनेक्ट होते है जिसके द्वारा डाटा ट्रान्सफर होता है

कंप्यूटर नेटवर्क के कई तरह के प्रोटोकॉल use होते है जिसमे से TCP / IP प्रोटोकॉल सबसे अधिकतर use होते है |

TCP/IP  प्रोटोकॉल एक स्टैंडर्ड है जिसके द्वारा नेटवर्क में उपस्थित सभी कंप्यूटर एक दूसरे से कम्युनिकेट कर सकते हैं इस प्रोटोकॉल में TCP और IP दोनों यूज़ होते हैं TCP प्रोटोकोल का यूज डाटा पैकेट को ऑर्गेनाइज करने के लिए होता है और इंटरनेट प्रोटोकॉल (IP) का यूज डाटा पैकेट को डिफरेंट कंप्यूटर तक पहुंचाने के लिए होता है|

कंप्यूटर नेटवर्क के लिए सिक्योरिटी बहुत इंपोर्टेंट होती है क्योंकि इससे इंपॉर्टेंट और सेंसेटिव इनफॉरमेशन ट्रांसफर होते हैं इसीलिए कंप्यूटर नेटवर्क में कई तरह के सिक्योरिटी Measures यूज होते हैं जिसमें फायरवॉल, एंटीवायरस सॉफ्टवेयर और encryption आदि आते हैं|

कंप्यूटर नेटवर्क के प्रकार (Types Of  Computer Network) :

Computer network के कई प्रकार होते हैं जिनमें से कुछ इस प्रकार हैं : 

1. LAN (Local Area Network) : LAN एक छोटे से क्षेत्र में यूज़ किया जाने वाला नेटवर्क है जिसमें सभी डिवाइसेज एक ही बिल्डिंग जा कैंपस से कनेक्ट होते हैं|

2. WAN (Wide Area Network) : WAN एक बड़े से क्षेत्र में यूज किया जाने वाला नेटवर्क है जिसमें सभी डिवाइसेज अलग-अलग लोकेशन में होते हैं और एक दूसरे से कनेक्ट होते हैं|

3. MAN (Metropolitan Area Network) : MAN एक सिटी के लिए होता है जिसमें सभी डिवाइसेज एक सिटी के अलग-अलग लोकेशन पर उपस्थित होते हैं और एक दूसरे के साथ कनेक्ट रहते हैं|

4. PAN (Personal Area Network) : PAN एक छोटा सा नेटवर्क है जो कि पर्सनल डिवाइसेज जैसे कि स्मार्टफोन, लैपटॉप, टेबलेट आदि को एक दूसरे से कनेक्ट करने के लिए प्रयोग किया जाता है|

5. CAN (Campus Area Network) : CAN नेटवर्क एक एजुकेशनल इंस्टीट्यूशन के लिए होता है जिसमें सभी डिवाइसेज एक कैंपस की अलग-अलग बिल्डिंग्स में उपस्थित होते हैं और वहां से एक दूसरे के साथ कनेक्ट रहते हैं|

6. VPN (Virtual Private Network) : दीदी एक प्राइवेट नेटवर्क है जिसमें सभी डिवाइसेज इंटरनेट के द्वारा एक दूसरे के साथ कनेक्ट होते हैं|

नेटवर्क टोपोलॉजी क्या है ? और इसके प्रकार |

कंप्यूटर नेटवर्क के लाभ (Advantages Of Computer Network) :

कंप्यूटर नेटवर्क के बहुत सारे लाभ हैं जिनमें से कुछ इस प्रकार हैं :

1. Resource Sharing : कंप्यूटर नेटवर्क के द्वारा हम अपने रिसोर्सेज जैसे कि (Printer, Scanner, Hard-drive) दूसरे कंप्यूटर से शेयर कर सकते हैं जिससे टाइम और पैसे की बचत होती है|

2. Data Sharing : कंप्यूटर नेटवर्क के द्वारा हम अपने डेटा जैसे की डाक्यूमेंट्स ,फोटोस ,वीडियोस किसी दूसरे कंप्यूटर के साथ शेयर कर सकते हैं जिससे Collaboration और TeamWork को improve किया जा सकता है|

3. कम्युनिकेशन : कंप्यूटर नेटवर्क की सहायता से हम किसी दूसरे कंप्यूटर के साथ रियल टाइम कम्युनिकेशन कर सकते हैं जैसे की (Email, instant messaging, voice over IP) जिससे ग्लोबल कम्युनिकेशन को इंप्रूव किया जा सकता है|

4. Remote Access : कंप्यूटर नेटवर्क की सहायता से हम अपने ऑफिस के काम को बाहर भी एक्सेस कर सकते हैं जिससे productivity और efficiency बढ़ती है|

5. Backup & Recovery : कंप्यूटर नेटवर्क की सहायता से हम अपने डेटा का बैकअप बनाकर रख सकते हैं और अगर कभी डाटा लॉस्ट हो जाए तो उस बैकअप से हम अपने डाट को दोबारा से रिकवर कर सकते हैं|

इस प्रकार से कंप्यूटर नेटवर्क के द्वारा डाटा सिक्योरिटी को इंप्रूव किया जा सकता है|

6. Software & Hardware Support  : कंप्यूटर नेटवर्क की सहायता से हम दूसरे कंप्यूटर से सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर सपोर्ट ले सकते हैं जिससे टेक्निकल issues को सॉल्व किया जा सकता है|

7. Internet Access : कंप्यूटर नेटवर्क की सहायता से हम इंटरनेट से कनेक्ट हो सकते हैं जिससे हम इंफॉर्मेशन रिसोर्सेज और इंटरटेनमेंट आदि सभी चीजें इंटरनेट से एक्सेस कर सकते हैं|

सरल शब्दों में कंप्यूटर नेटवर्क की सहायता से हम अपने रिसोर्सेज ,डाटा कम्युनिकेशन, रिमोट एक्सेस बैकअप एंड रिकवरी, सॉफ्टवेयर एंड हार्डवेयर सपोर्ट और इंटरनेट एक्सेस को इंप्रूव कर सकते हैं|

Termux से हैकिंग कैसे करे ?

कंप्यूटर नेटवर्क की हानि (Disadvantages of Computer Network) :

1. Security Issues : कंप्यूटर नेटवर्क के द्वारा डिटॉर रिसोर्सेज को शेयर करने के साथ-साथ कुछ सिक्योरिटी रिस्क भी होते हैं जिसमें unauthorised access, data चोरी, वायरस attacks और हैकिंग आदि शामिल है|

2. Complexity : कंप्यूटर नेटवर्क बहुत ही complex होता है जिसमें डिवाइसेज, प्रोटोकोल, टोपोलॉजी और कंफीग्रेशन का यूज़ होता है, इससे Trouble shoot और मेंटेनेंस करने में दिक्कत हो सकती है|

3. Dependency : कंप्यूटर नेटवर्क के द्वारा हम अपने वर्क को करने के लिए डिपेंड हो जाते हैं जिससे अगर नेटवर्क डाउन हो जाए तो हमारा काम रुक जाता है|

4. Limited Resources : कंप्यूटर नेटवर्क के द्वारा हम रिसोर्सेज शेयर कर सकते हैं और यही resources सीमित होने के कारण अन्य यूज़र के लिए रिसोर्सेज Available नहीं होते हैं|

5. Cost : computer network को स्थापित करने के लिए डिवाइसेज, सॉफ्टवेयर और मेंटेनेंस में बहुत खर्चा होता है|

6. Technical Skills : कंप्यूटर नेटवर्क के लिए टेक्निकल स्किल्स की जरूरत होती है जिससे नेटवर्क को सेटअप, configure और Trouble shoot किया जा सके|

 Conclusion :

आज के इस आर्टिकल में हमने जाना कि कंप्यूटर नेटवर्क क्या होता है (What is Computer Network) , कंप्यूटर नेटवर्क के प्रकार (Types of Computer Network),  कंप्यूटर नेटवर्क के लाभ (Advantage of Computer), कंप्यूटर नेटवर्क की हानियां आदि (Disadvantage of Computer Network) आदि| आर्टिकल अच्छा लगा हो तो दूसरों के साथ अवश्य शेयर करें|

Leave a Comment