मध्यप्रदेश में परिवहन और संचार | Transport in madhyapradesh in hindi|

मध्यप्रदेश में परिवहन और संचार | Transport MPGK| Madhya Pradesh Me Parivahan GK|MP Transport|

 

mp me parivahan aur sanchar, mp gk, mp transport and communication
मध्यप्रदेश में परिवहन एवं संचार तंत्र

 

 

 

 

 

 

मध्य प्रदेश में सड़क यातायात कारपोरेशन अधिनियम 1950 के अंतर्गत मध्य प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम की स्थापना 1962 में की गई|

▪️ प्रदेश में परिवहन के साधनों को तीन भागों में बांटा गया है –

▪️ सड़क परिवहन ▪️ वायु परिवहन ▪️ रेल परिवहन

मध्यप्रदेश में सड़क परिवहन :

▪️ प्रदेश में सड़कों की लंबाई प्रति 100 वर्ग किलोमीटर पर 52 किलोमीटर है |

▪️ भारत में सड़कों की लंबाई प्रति 100 वर्ग किलोमीटर पर 75 वर्ग किलोमीटर है| 

▪️ मध्यप्रदेश में सड़क परिवहन निगम की स्थापना 1962 में हुई थी|

▪️ प्रदेश की सड़कों को चार भागों में विभाजित किया गया है राष्ट्रीय राजमार्ग, राजमार्ग, मुख्य जिला मार्ग, ग्रामीण मार्ग|

 

मध्यप्रदेश के राष्ट्रीय राजमार्ग (National Highway In Madhya Pradesh) :

▪️ मध्य प्रदेश का सबसे लंबा राष्ट्रीय राजमार्ग NH-3 ( आगरा- मुंबई) है|

▪️ मध्य प्रदेश का सबसे छोटा राष्ट्रीय राजमार्ग 135 BB  है| जिसकी लंबाई मात्रा 7.5 किमी है|

▪️ प्रदेश के बड़े बड़े नगरों को जोड़ने वाली सड़कों को “प्रांतीय राजमार्ग” कहते हैं जिसकी लंबाई 11389 किलोमीटर है|

▪️ प्रदेश का दूसरा सर्वाधिक लंबा राष्ट्रीय राजमार्ग NH-44A  है जिसकी लंबाई 571.9 किलोमीटर है|

▪️ मध्यप्रदेश में राष्ट्रीय राजमार्गों की कुल लंबाई 8772.3 किलोमीटर है|

राजमार्ग (MP Transport) :

▪️ प्रदेश की कुल सड़कों में से 11.1% राज्य मार्ग सड़कों का है

▪️ आर्थिक सर्वेक्षण 2017-18 के अनुसार मध्यप्रदेश में राष्ट्रीय राजमार्गों की संख्या 46 है|

मुख्य जिला मार्ग :

▪️ प्रदेश में जिला मार्गों की कुल लंबाई 19574 किमी है| 

▪️ राज्य की कुल सड़कों में इनका प्रतिशत 22.6 प्रतिशत है|

 

ग्रामीण मार्ग :

▪️ मध्य प्रदेश में ग्रामीण मार्गों की कुल लंबाई 24089 किलोमीटर है| 

▪️ मध्य प्रदेश में वर्ष 2005 को सड़क वर्ष के रूप में मनाया गया|

 

प्रमुख योजनाएं :

▪️ प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना दिसंबर 2000 से प्रारंभ की गई है |

▪️ मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना 1 अप्रैल 2010 से प्रारंभ की गई है|

 

मध्यप्रदेश में वायु परिवंहन :

▪️ मध्यप्रदेश में कुल 26 हवाई पट्टे हैं| 

▪️ 26 हवाई पट्टियों में से 10 राष्ट्रीय वायु सेवा के लिए हैं|

▪️ भोपाल के हवाई अड्डे का नाम बदलकर राजा भोज हवाई अड्डा रख दिया गया है| 

▪️ इंदौर की हवाई अड्डे का नाम बदलकर अहिल्याबाई हवाई अड्डे का नाम रख दिया गया है |

▪️ जबलपुर की हवाई अड्डे का नाम बदलकर दुमना हवाई अड्डा नाम रख दिया गया है |

▪️ प्रदेश में 5 हवाई अड्डे – खजुराहो, ग्वालियर ,भोपाल ,इंदौर और जबलपुर में है|

▪️ इंदौर स्थित देवी अहिल्याबाई होलकर एयरपोर्ट को अब इंटरनेशनल एयरपोर्ट का दर्जा मिल गया है|

संचार सेवा (मध्य प्रदेश में संचार व्यवस्था) :

▪️ मध्यप्रदेश में संचार सेवा का प्रारंभ 1 अप्रैल 1962 को किया गया जिसका मुख्यालय भोपाल में स्थित है|

▪️ मध्य प्रदेश का पहला आकाशवाणी केंद्र 1955 इंदौर में स्थापित किया गया| 

▪️ दूसरा आकाशवाणी केंद्र भोपाल में 1956 में तथा तीसरा आकाशवाणी केंद्र 1964 में ग्वालियर में स्थापित किया गया|

▪️ रेडियो प्रसारण की शुरुआत 1955 में इंदौर से हुई| 

▪️ भारत में दूरदर्शन का प्रारंभ 1959 में दिल्ली से हुआ|

▪️ भारत में रंगीन टीवी का प्रारंभ 1982 में हुआ| 

▪️ मध्य प्रदेश का पहला टीवी स्टूडियो भोपाल में स्थापित किया गया| 

▪️ मध्यप्रदेश में दूरसंचार सेवा का प्रारंभ 1 सितंबर 1974 में हुआ| 

▪️ मध्यप्रदेश में डाक सेवा का प्रारंभ 1962 में हुआ|

▪️ भारतीय डाक सेवा की शुरुआत 1837 में हुई|

▪️ मध्यप्रदेश में डाकघरों की संख्या 8317 है| 

▪️ मध्यप्रदेश में पत्र पेटी की संख्या 40742 है |

▪️ मध्यप्रदेश में टेलीफोन कनेक्शनों की संख्या 3786 हजार है|

निष्कर्ष :

आशा है की आप सभी को आज की हमारी यह पोस्ट mp transport, parivahan mp, new national highway in mp, मध्यप्रदेश परिवहन बस, भारत की परिवहन नीति, transport in madhyapradesh in hindi,मध्यप्रदेश में परिवहन, मध्यप्रदेश में परिवहन एवं संचार आपको हेल्पफुल लगी होगी| 

यदि आपको हमारी यह पोस्ट मध्यप्रदेश में परिवहन (Mp Transport) अच्छी लगी तो अपने दोस्तों या जरूरतमंद के साथ जरूर शेयर करें| 

 

NOTE :  यदि आप किसी Government Exam की तैयारी कर रहे हैं तो हम आपके लिए लाए हैं FULL GK भंडार वो भी Free, Free, Free…… जो आपकी तैयारी में बहुत ही मददगार साबित होगा 👇

Leave a Comment